अपना टीवी चैनल खुद क्यों नहीं खोलते मुस्लमान : अवि डांडिया

0

फ़ातिमा ताज

अवि डांडिया सोशल मीडिया का एक जाना पहचाना चेहरा  हैं। वह एक सोशल मीडिया इनफ्लुएंसर हैं, अपने वीडियो के ज़रिए वह लोगों से सवाल जवाब करते हैं और उनको सच्चाई से रूबरू कराने की कोशिश करते हैं।

इनके वीडियो का एक मक़सद यह भी होता है कि वह हिंदू मुस्लिम और सभी समुदाय के बीच भाईचारा  को बढ़ावा मिले

उनका एक नया वीडियो आया है इस वीडियो में अवि अवि डांडिया  मुसलमानों से एक बड़ा महत्वपूर्ण सवाल क्या है सवाल यह है कि मुसलमानों के पास कोई बड़ा मीडिया हाउस या न्यूज़ चैनल क्यों नहीं है?

मुस्लिम समुदाय सरकार से और अन्य मीडिया चैनलों से शिकायत करती है के वह उनकी सच्चाई दुनिया को

नही दिखाते। बड़े न्यूज़ चैनल जैसे कि “आज तक, ज़ी टीवी, एबीपी” इत्यादि पर एक तरफा ख़बर दिखाने और पक्षपात करने का आरोप लंबे समय से लगा हुआ है।

डांडिया ने मुसलमानो से साफ़ साफ़ लफ़्ज़ों में कहा है के अब  झूठी उम्मीद और शिकायतों का सिलसिला  बंद करो , अपने पैरों पे खड़ा होना सीखो, अपना चैनल खुद खोलो कब ता दूसरों के पीछे भागते रहोगे , कब तक ज़ी न्यूज़ को गाली देते रहोगे किआ ज़ी न्यूज़ को गालियां देने से तुम्हारे मसाएल हल हो जायेंगे ?

इस वीडियो क जरिया एक बहुत अहम संदेश मुस्लिम समुदाय को दिया गया है।मुसलमानों की दौलत आख़िर कहां ख़र्च हो रही है क्या हमारे पास इतना पैसा और हिम्मत नहीं है कि हम दूसरे मुख्य मीडिया चैनलों के मुक़ाबले अपना एक न्यूज़ चैनल खोल सकें?

किसी भी राजनीतिक पार्टी को भला बुरा कहना या उनसे निराश होना कोई समाधान नहीं है। वक़्त रहते समझ जाना चाहिए कि अब मुस्लिम को एक जुट हो कर अपनी कमियों के ऊपर ध्यान देने की और काम करने की ज़रूरत है।

बेबाक़ होकर अपनी बात कैसे कहते हैं इसका एक उदाहरण अवि दानड़ीया ख़ुद भी हैं। मुसलमानों के बीच इनकी काफ़ी अच्छी फ़ैन फॉलोइंग है। अपने इस वीडियो में अवी ने बॉलीवुड के मुस्लिम फ़िल्मी सितारों को भी ललकारा है।जिनके फ़िल्मों पर लोग हज़ारों रुपए यूंही ख़र्च कर देते हैं क्या वे सब मिल कर मुस्लिम लिए एक मीडिया चैनल नही खोल सकते?

इसलिए अब नाम के बादशाह और भाई जान के पीछे भागना बंद करें और अपने समाज और लोगों के लिए काम करना शुरू करें।

 

Onउन  मुस्लिम  नवजवानो  से जो सोशल मीडिया पर  मोदी को गालियां देते रहते हैं और अपना वक़्त बर्बाद करते हैं  अवि डांडिया ने पुछा है के किया  मोदी को गालियां देने से आप के मसाएल हल हो जायेंगे ?

मोदी आज है कल नहीं रहेगा लेकिन आप के मसाएल तो सत्तर वर्षों से हैं और आगे भी रहेंगे , आखिर कबतक आप नेगेटिव एजेंडा पर काम करते रहेंगे ? क्या नेगेटिव एजेंडे पर काम करने से आप का मसाएल हल हो जायेंगे ? आप अपना एजेंडा खुद बनायें , आप अपना एजेंडा खुद तय करें, अपना लीडरशिप खुद खड़ा करें , अपना मीडिया खुद खोलें दूसरों को गाल्यां देने से फ़्रस्ट्रेशन के सिवा  आप को कुछ नहीं मिलने वाला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here