दिल्ली में पहली हिजाबी महिला जज बनी अनम रईस खान

2

अलीगढ़:  अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी की पूर्व छात्रा अनम रईस खान ने जज बनने का सपना पूरा कर दिखाया है। बता दें कि वह दिल्ली में पहली हिजाबी महिला जज बनी हैं। उन्होंने दिल्ली जुडीशियल सर्विस परीक्षा 2018 में 71 वीं रैंक हासिल की हैं

अनम रईस खान ने एएमयू से प्लस टू करने के बाद 2015 में बीएएलएलबी किया।कंस्टीट्यूशनल लॉ में गोल्ड मेडल हासिल किया। 2016 में नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी से एलएलएम किया।

उन्होंने यूजीसी नेट भी क्वालिफाई किया। सामाजिक क्षेत्र में कार्य करते हुए विधिक साक्षरता व पर्यावरण के लिए लोगों को जागरूक किया। पढ़ाई के दौरान वे एएमयू इको क्लब की सदस्य व लॉ सोसायटी की सचिव रहीं।

2017 में दिल्ली बार काउंसिल में नामांकन कराया। शादी होने के बाद पति से दिल्ली जुडीशियल सर्विस की परीक्षा देने की जिद की। उनके पति आस्ट्रेलिया में साफ्टवेयर इंजीनियर हैं।

26 साल की उम्र में यह कामयाबी हासिल कर ली। उनके पिता एआर खान रेलवे में स्टेशन अधीक्षक पद से सेवानिवृत्त हुए। उनकी मां समीना खान एएमयू में अंग्र्रेजी विभाग में प्रोफेसर हैं। उनकी एक बहन अलवीना खान ने प्लस टू किया है।

अनम ने बताया कि उनकी हमेशा यही इच्छा थी कि बड़ी होकर जज बनूं। जज एक ऐसी शक्ति जो समाज में असमानता व अन्याय को खत्म कर सकता है। वे लोगों के साथ न्याय कर देश की सेवा करेंगी। विधि छात्रों को उनका संदेश है कि वे समाज में असमानता और अन्याय को दूर करने में योगदान दें।

2 COMMENTS

  1. Dear Sir,

    Thanks for sharing this info.
    I am Tanweer Ahmad.
    I am a Editor of one of my you tube channel “Wetoo Media, an education channel.

    Are you able to give the contract of Anam Raees Khan.
    I will try to have an interview with her for my channel..

    Rgds
    Tanweer Ahmad
    Editor :-Wetoo Media

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here