हफ्ते में पाँचों दिन हो रही सुनवाई के विरोध में मुस्लिम पक्ष की दलील SC द्वारा ख़ारिज

0

मुस्लिम मिरर स्टाफ़

नयी दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या राम मंदिर – मस्जिद विवाद पर रोज़ाना हो रही सुनवाई पर मुस्लिम पक्ष द्वारा दायर की गयी आपत्ति को खारिज कर दिया है।

दरअसल, सुनवाई की शुरुआत में ही मुस्लिम पक्ष ने रोजाना हो रही सुनवाई का विरोध किया था। मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन न रोज़ सुनवाई होने के कारण तैयारी करने के लिए समय न मिल पाने की दलील दी थी।

साथ ही राजीव धवन ने कहा था कि सुनवाई में ऐसे जल्दी नहीं की जा सकती, ऐसे में उन्हें केस छोड़ने पर मजबूर होना होगा।

हालांकि इसके बाद भी आज सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष के वकील धवन की इस दलील को नकार दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने चौथे दिन सुनवाई के दौरान आज सोमवार से शुक्रवार तक, हर दिन सुनवाई करने का फैसला किया।

ग़ौरतलब है कि चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस धनंज वाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. अब्दुल नजीर वाली पांच सदस्यों वाली संवैधानिक पीठ फिलहाल हिंदू पक्षों की दलील सुन रही है।

आपको बता दें कि, सोमवार और शुक्रवार के दिन सुनवाई नहीं होनी थी, क्योंकि इस दिन नए केस सुने जाते हैं, मगर अब परंपरा तोड़ते हुए 5 दिन सुनवाई होगी।

फिलहाल कोर्ट में निर्मोही अखाड़ा और रामलला विराजमान अपना अपना पक्ष रख रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here